भारत में डोनर एग के साथ आईवीएफ की सफलता दर क्या है?

फर्टीसिटी फर्टिलिटी क्लीनिकस में, बहुत सी महिलाएं हैं जिन्होंने डोनर अंडे के साथ आईवीएफ के माध्यम से माँ बनने का अफसर प्राप्त क्र लिया है। यह प्रक्रिया तब की जाती है जब एक महिला अंडे के खराब गुणों से पीड़ित होती है। उस स्थिति में, स्वस्थ donor eggs का उपयोग किया जाता है जो आईवीएफ की सफलता दर को सामान्य आईवीएफ से भी अधिक बनाता है।

इसलिए यदि आप भारत में डोनर अंडे के साथ आईवीएफ उपचार की सफलता दर के बारे में अधिक जानना चाहते हैं तो आप सही जगह पर हैं।

इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि डोनर एग क्या हैं, आपके अपने एग के साथ आईवीएफ और डोनर अंडे के साथ आईवीएफ में क्या अंतर है, और उपचार आपके लिए कितना सफल है।

Related: How Much Time Does It Take Sperm To Reach The Egg After Sex?

डोनर एग क्या होते है?

जब कोई जोड़ा इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) में महिला के अपने अंडे से गर्भवती होने में असमर्थ होता है तो उन्हें डोनर अंडे पर विचार करने की सलाह दी जाती है। यह एक इंफर्टिले महिला को गर्भवती होने की एक नयी आशा प्रदान करता ह।

Related:  What Is Hormone Therapy and How Can It Treat Infertility?

हालांकि, यह ध्यान रखना आवश्यक है कि अंडा दाता आईवीएफ उपचार में माना जाता है कि मां आनुवंशिक रूप से बच्चे से संबंधित नहीं होगी।

दूसरी ओर, जब तक कोई शुक्राणु दाता उपयोग नहीं किया जाता है, तब तक पिता नवजात शिशु से आनुवंशिक रूप से संबंधित होगा।

डोनर एग्स की जरूरत किसे है?

एक आम मिथक है कि हर आईवीएफ प्रक्रिया में डोनर एग या शुक्राणु का उपयोग किया जाता है जो कि अवास्तविक और गलत जानकारी है।

सत्य तोह यह है की डोनर एग तभी रेकमेंडेड होते है जब एक कपल की अपनी प्रजनन कोशिका – अंडे या शुक्राणु एक भ्रूण को विकसित करने के लिए इंफर्टिले होते है।

यह भी पड़े: 8 Tips To Make Your IVF Treatment Successful On The First Try

तो डोनर अंडे की जरूरत किसे है?

Related:  Can Infertility Cause Miscarriage?

यदि आप स्वस्थ ओवेरियन रिज़र्व वाली एक स्वस्थ युवा महिला हैं तो आपको डोनर अंडे की आवश्यकता नहीं हो सकती है। दुर्भाग्य से, 33-45 आयु वर्ग की महिलाएं जो उम्र से संबंधित प्रजनन क्षमता में गिरावट से पीड़ित हैं, उनके पास अपने आईवीएफ उपचार के साथ आगे बढ़ने के लिए किसी और के अंडे का उपयोग करना ही एक मात्रा तरीका है।

डोनर एग के साथ आईवीएफ की सफलता दर

तो आइए अब डोनर अंडे के साथ आईवीएफ की योजना बनाते समय रोगियों की मुख्य दुविधा पर आते हैं। प्रत्येक रोगी के मन में मुख्य प्रश्न यह है कि “यदि हम आईवीएफ में डोनर अंडे का उपयोग करने पर विचार करें तो डोनर एग के साथ आईवीएफ की सफलता दरक्या है?”

Related: क्या 40 साल की उम्र में आईवीएफ सफल हो सकता है?

ऐसे कई क्लीनिक हैं जो आपको यह कहकर उत्तर देंगे कि या तो इस उपचार की सफलता दर उच्च है या यह कहकर कि यह उपचार विफल है। हालाँकि, हम फर्टीसिटी में परिणामों में विश्वास करते हैं, और यहाँ हमारे आँकड़े दिखाते हैं।

Related:  Boost Fertility With Yoga: Does Yoga Improve Fertility in Men and Women?

यह भी पड़े: IVF Success Rate: Does IVF Guarantee Success Rate on the First Try?

दाता अंडे के साथ आईवीएफ पहले प्रयास में गर्भधारण में 50% -70% और तीन प्रयासों के साथ 90% की संभावना के साथ बांझपन के इलाज में उच्च सफलता दर दिखाता है। इसका मतलब है कि औसतन हर 5 में से 4 महिलाएं अपने बच्चे के सपने को साकार करती है।

यदि आप उपचार के साथ आगे बढ़ने की योजना बना रहे हैं तो फर्टीसिटी फर्टिलिटी क्लीनिकस में हमारे डॉक्टर आपके लिए सबसे अच्छा उपचार तय करने में आपकी मदद करेंगे।

यदि आपके पास आईवीएफ, डोनर एग, या पुरुष / महिला बांझपन के बारे में कोई प्रश्न या चिंता है, तो आप फर्टिलिटी फर्टिलिटी क्लीनिक के हमारे फर्टिलिटी विशेषज्ञों से जुड़ सकते हैं, जो दक्षिण दिल्ली, भारत में सर्वश्रेष्ठ आईवीएफ केंद्र है।

हमें +91-11-45890000, 9910120674 पर कॉल करें या हमारे साथ अपॉइंटमेंट बुक करे।